विश्व सामाजिक न्याय दिवस 20 फरवरी को ही दुनियाभर में मनाया जाता है ! (World Social Justice Day February 20 )

World day of social justice
World day of social justice

विश्व सामाजिक न्याय दिवस के बारे में (About World Social Justice Day) :-

आज हम आपको विश्व सामाजिक न्याय दिवस के बारे में कुछ जानकारी देने जा रहे हैं ! सामाजिक न्याय (Social justice) का अर्थ है कि हर व्यक्ति के बीच सामाजिक (Social) स्थिति के आधार पर कोई भी असमानता ( Inequality) नहीं होनी चाहिए मतलब यह कि समाज (Society) में हर व्यक्ति के साथ न्याय (Justice) होना चाहिए !

लिंग (Gender), आयु (Age), धर्म (Religion) और संस्कृति (Culture) के आधार पर किसी के साथ कोई भेदभाव (Discriminate) नहीं होना चाहिए इसका मतलब यह है कि किसी भी प्रकार से किसी भी व्यक्ति का शोषण (Exploit ) न हो इसे ही सामाजिक न्याय (Social justice) कहा जाता है !

सामाजिक न्याय का वर्तमान रूपांतर शब्द है आरक्षण :-

सामाजिक न्याय (Social justice) का वर्तमान रूपांतर ( Current version) शब्द है आरक्षण (Reservation) ! आरक्षण का मतलब यह होता है की सशक्त व्यक्तियों (Strong people) से कुछ पद (Post) बचाकर दुर्बल व्यक्तियों (Weak persons) को दे देना ऐसा करने के पीछे यही कारण होता है कि किसी भी व्यक्ति के साथ किसी भी प्रकार का भेदभाव (Discriminate) न हो !

जो व्यक्ति सामाजिक (Social), आर्थिक (Economic) तथा शैक्षिक (Educational) द्रष्टि से संपन्न (Endowed) नहीं है तो ऐसे व्यक्ति के लिए पद (Post) को सुरक्षित करना ही आरक्षण  (Reservation) कहलाता है !

मानव अधिकारों का हनन (Human rights abuses) :-

आज चाहे शहर (City) हो, गांव (Village) हो, राज्य (State) हो या फिर देश (Country) देखा जाए तो हर जगह पर हमारे अधिकारों (Rights) का हनन (Abuse) हो रहा है ! हमारे अधिकारों (Rights) का हनन (Abuse) न हो !

इसी वजह से पूरे विश्व (World) में सामाजिक न्याय दिवस (Social justice day) की शुरुआत की गयी थी ! हर साल 20 फरवरी को विश्व सामाजिक न्याय दिवस ( World Social Justice Day) मनाया जाता है ताकि सभी लोगों को समान अधिकार (Equal rights) हासिल हो सकें !

वैसे देखा जाए तो आज पूरी दुनिया (World) में मानव अधिकारों (Human rights) का हनन (Abuse) करना एक आम सी बात हो गयी है ! इसी वजह से संयुक्त राष्ट्र संघ (United Nations organisation) ने 20 फरवरी 2009 को विश्व सामाजिक न्याय दिवस (World Social Justice Day) मनाने का फैसला लिया !

तब से लेकर हर साल विश्व सामाजिक न्याय दिवस (World Social Justice Day) मनाया जाता है ! इसका उद्देश्य पूरे विश्व में सामाजिक न्याय को ( Social justice ) बढ़ावा देना है !

कब की गयी थी विश्व सामाजिक न्याय दिवस की स्थापना (When was the establishment of the World Social Justice Day) :-

संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) द्वारा 20 फरवरी 2007 को इस दिवस की स्थापना की गयी थी ! विश्व सामाजिक न्याय दिवस (World Social Justice Day) के उद्देश्य को पूरा करने के लिए संयुक्त राष्ट्र (United Nations ) और अंतर्राष्ट्रीय श्रम कार्यालय (International Labor Office) एक साथ काम कर रहे हैं !

संयुक्त राष्ट्र  (United Nations) और अंतर्राष्ट्रीय श्रम कार्यालय (International Labor Office) के द्वारा लोगों के बीच इस दिन के महत्त्व को फ़ैलाने के लिए कई तरह के कार्य भी किये जा रहे हैं !

भारत में इसे लेकर क्या कार्य किये जा रहे हैं (What works are being done in India) :-

भारत में हमारे संविधान (Constitution) को बनाते समय सामाजिक (Social ) और न्याय (Justice) का ख़ास ध्यान रखा गया था ! इस समय हमारे संविधान (Constitution) में ऐसे कई नियम मौजूद हैं जो कि सामाजिक न्याय (Social Justice) को सुनिश्चित करने के लिए ही बनाये गए हैं !

वहीँ संयुक्त राष्ट्र (United Nations) के साथ अपने कदम से कदम मिलाकर भारत सरकार (Indian Government) भी सामाजिक न्याय (Social Justice) के लिए कई कार्य कर रही है !

भारत (India) में कई तरह की जाति के लोग हैं और इसके आलावा भी हमारे देश में कई ऐसी प्रथाएं (Tradition) हैं जो सामाजिक न्याय (Social Justice) के लिए खतरा हैं ! इन्ही सब चीजों से लड़ने के लिए भारत (India) ने कई महत्वपूर्ण कार्य भी किये हैं !

हमारे भारतीय संविधान ( Indian Constitution) की प्रस्तावना में भी सामाजिक न्याय (Social Justice) को सुनिश्चित करने की बात कही गयी है लेकिन भारत में फैली जाति प्रथा और लोगों का स्वार्थपूर्ण भेदभाव (selfish discrimination) सामाजिक न्याय  (Social Justice) को रोकने में एक अहम् कारक सिद्ध नहीं हो पा रहा है !

भारत (India) में राष्ट्रिय मानव अधिकार आयोग ( National Human Rights Commission ), राष्ट्रिय महिला आयोग ( National Commission for Women) और बाल विकास आयोग (Child Development Commission) जैसी कई सरकारी (governmental ) और गैर सरकारी संगठन (Non-governmental organizations) यही कोशिश करते हैं कि इस समाज (society) में कोई भी इंसान भेदभाव (discrimination) से पीड़ित न हो लेकिन दुर्भाग्यवश यह सब आज तक भी ख़त्म नहीं हो पाया है !

क्यों मनाया जाता है सामाजिक न्याय दिवस (Why Social Justice Day is celebrated) :-

यह दिवस विभिन्न सामाजिक मुद्दों (Social issues) का बहिष्कार ( Boycott) करना और बेरोजगारी (Unemployment) एवं गरीबी (Poverty) से निपटने के प्रयासों को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है ! इस अवसर पर विभिन्न संगठनों ( Organizations ) द्वारा लोगों से सामाजिक न्याय (Social Justice) हेतु अपील की जाती है !

( अभी आप ये जानकारी gkwebsite.com पर पढ़ रहे है ! )

दोस्तों ये पोस्ट आपको कैसे लगी । हमें अपने विचार नीचे कमेंट बॉक्स में दे ।

Fields marked with an * are required
2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *