मोनालिसा के बारे रोचक जानकारी

Monalisa

शायद आपमें – से ज्यादातर लोगों ने मोनालिसा की तस्वीर (Monalisa Painting) के बारे में तो जरूर सुना ही होगा और उसे देखा भी होगा ! इस तस्वीर में उसकी अदभुत मुस्कान को देखकर उसके बारे में जानने की कभी न कभी आपकी इच्छा भी की होगी ! क्या आप जानते है कि मोनालिसा की इस तस्वीर (Monalisa Painting) को लियोनार्डो दा विन्ची ने बनाया था ! उनका जन्म 15 अप्रैल 1452 को इटली के विन्ची शहर में हुआ था ! इसी वजह से उनके नाम के पीछे विंची शब्द लगाया गया ! वह एक खोजकर्ता और कलाकार के रूप में जाने जाते थे ! उनकी एक और ख़ास बात यह थी कि वह एक बार में एक हाथ से लिख तथा दुसरे हाथ से तस्वीर (Monalisa Painting)बना सकते थे !

मोनालिसा की तस्वीर को अलग – अलग एंगल से देखने पर उसकी स्माइल अलग – अलग नजर आती है ! मोनालिसा की यह तस्वीर दुनिया की सबसे प्रसिद्ध तस्वीर है ! शायद इसीलिए आज इस तस्वीर की कीमत लगभग 5253 ( 52531050000 ) करोड़ रूपये है ! गूगल के सर्च रिज़ल्ट से पता चला है कि 14 दिसंबर 1962  को यह तस्वीर 100 मिलियन डॉलर  ( 100 million dollar ) करीब  75 करोड़ ( 75 crore ) रूपये की  थी  ! ( अभी आप ये जानकारी gkwebsite.com पर पढ़ रहे है ! )

अमेरिका में पहली बार लियोनार्डो दा विन्ची की मशहूर तस्वीर मोनालिसा (Monalisa Painting) को 8 जनवरी 1963 को वाशिंगटन में प्रदर्शित किया गया था ! नेशनल आर्ट ऑफ़ गैलरी के बाहर मोनालिसा की इस तस्वीर को देखने के लिए लोगों की लंबी कतारें लगी थी ! उस वक़्त प्रदर्शन के लिए अमेरिका ने फ्रांस से इस तस्वीर को किराए पर लिया था !

ऐसा माना जाता है कि लियोनार्डो दा विन्ची ने यह तस्वीर 1503 से लेकर 1506 के बीच बनाई थी ! लेकिन इसका कोई पक्का प्रमाण नहीं है कि उन्होंने यह तस्वीर आखिर कब बनाई थी ! क्योंकि विन्ची द्वारा बनाई गई इस तस्वीर को बनाने के अलग – अलग तथ्य सामने आते है ! इस तस्वीर के बारे में दूसरा तथ्य यह है कि लियोनार्डो दा विन्ची जब 51 साल के थे तो उन्होंने 1503 में इस तस्वीर को बनाना शुरू किया और 2 मई 1519 में इस तस्वीर को पूरा किये बिना ही उनकी मृत्यु हो गयी ! और यह तस्वीर तब से आज तक एक रहस्य की तरह है ! इस तस्वीर को लेकर कई सारे शोधकर्ताओं ने शोध किये और इस तस्वीर में जो औरत है उसके बारे में जानकारी हासिल करने की कोशिश कर रहे है, जिससे की उन्हें यह पता चल सके कि इस तस्वीर में जो औरत है वो कौन है ! ( अभी आप ये जानकारी gkwebsite.com पर पढ़ रहे है ! )

1.    वास्तव में यह मोनालिसा है कौन, आज तक यह एक रहस्य ही बना हुआ है ! मोनालिसा के बारे में शोधकर्ताओं की अलग – अलग राय है ! किसी का कहना है कि मोनालिसा एक रेशम व्यापारी की पत्नी थी, और उनका असली नाम लिसा घेरारदिनी था ! सन 1495 में एक धनी व्यापारी सर फ्रांसिस्को डेल जकार्डे के साथ लिसा घेरारदिनी का विवाह हुआ ! इन्ही रेशम व्यापारी की पत्नी लिसा घेरारदिनी को तस्वीर की मोनालिसा का नाम दिया गया ! इतालवी में मोना शब्द का प्रयोग मैडम के लिए किया जाता है !( अभी आप ये जानकारी gkwebsite.com  पर पढ़ रहे है ! )

इस तस्वीर में महिला के पीछे वृक्ष, नदी, झरनेयुक्त खूबसूरत प्राकृतिक द्रश्य दिखाई दे रहे है ! ऐसा लग रहा है, मानो एक बड़ी खुली खिड़की के सामने उन्हें बैठाकर यह तस्वीर बनाई गयी हो ! मोनालिसा की इस तस्वीर को भौहों के साथ ही बनाया गया था, लेकिन समय के साथ – साथ यह रंग उतर गए ! यह बात एक शोध के द्वारा पता चली ! कहा जाता है कि जब 1503 में यह तस्वीर बननी शुरू हुई तो उस वक़्त वह गर्भवती थी ! शायद इसी मातृत्व की प्रसन्नता के कारण ही उनके चेहरे पर यह अदभुत मुस्कान है ! वर्ष के अंत में उन्होंने एक शिशु को जन्म दिया था !

2.    मोनालिसा के बारे में दूसरा तथ्य यह है कि जो महिला इस तस्वीर में दिखाई दे रही है, वह इटली के अरांगो शहर के डियुक की पत्नी ईशाबेला है, और इस तस्वीर में ईशाबेला की मुस्कान में दुःख है क्योंकि तस्वीर बनाने से कुछ समय पहले ही उनकी माँ का निधन हो गया था !

3.     मोनालिसा के बारे में तीसरा तथ्य यह है कि मोनालिसा की तस्वीर किसी युवती की नहीं बल्कि लियोनार्डो दा विन्ची ने अपना ही खुद का चित्र एक युवती के रूप में बनाया था ! इन शोधकर्ता का कहना था कि जब इन्होने कंप्यूटर की सहायता से मोनालिसा के चेहरे पर लियोनार्डो के बाल, भवहें और दाढ़ी तथा मूंछों को लगाकर देखा तो वह लियोनार्डो में बदल गयी ! इसी तरह जब उन्होंने लियोनार्डो के चेहरे से बाल, भवहें और दाढ़ी तथा मूंछों को हटाकर देखा तो वह बिल्कुल मोनालिसा की तरह ही लगे !

वैसे तो लियोनार्डो दा विन्ची चित्रकार के साथ – साथ एक अच्छे लेखक भी थे, लेकिन उन्होंने इस तस्वीर के बारे में कहीं भी कुछ नहीं लिखा ! जिससे यह पता चल सके कि इस तस्वीर में मौजूद औरत कौन है, और इसी कारण आज तक यह एक रहस्य है ! लियोनार्डो ने मोनालिसा की तस्वीर पर इटालियन भाषा में ला रिसपोस्टा सी तरवा की ( La risposta si trova qui ) शब्द लिखे थे,  जिसका हिंदी में मतलब है, उत्तर यहां है ( The Answer Is Here ) !उनके इन शब्दों को पढ़कर यह लगता है जैसे कि वह इस तस्वीर में छुपे रहस्य को बताना चाहते थे ! लेकिन इससे पहले कि वह कुछ बताते उनकी मृत्यु हो गयी और मोनालिसा की तस्वीर को वह एक रहस्य की तरह छोड़ गए ! ( अभी आप ये जानकारी gkwebsite.com पर पढ़ रहे है ! )

अगर मोनालिसा की दो तस्वीरों को आपस में मिलाते है, तो बीच में एक एलियन ( Alial  ) जैसी आकृति नजर आती है और चौकाने वाली बात यह है की यह आकृति उसी जगह पर नजर आती है जहां लियोनार्डो ने इटालियन भाषा में कुछ शब्द लिखे थे ! मोनालिसा की यह तस्वीर आज भी फ्रांस के लोरवे संग्रहालय ( Lourve Museum ) में रखी हुई है ! मोनालिसा की असली तस्वीर 21 इंच लंबी और 30 चौड़ी है !

इस तस्वीर को बचाए रखने के लिए फ्रांस की सरकार ने इस तस्वीर के लिए लोरवे संग्रहालय  ( Lourve Museum ) में करीब 50 करोड़ रूपये खर्च करके एक कमरा बनाया है ! इस तस्वीर को एक ख़ास तरह के शीशे में रखा गया है, जो न तो चमकता है और न ही टूटता है ! यह एक बुलेट प्रूफ शीशा है ! यह सब इसलिए ताकि कोई भी इस तस्वीर को कोई भी नुकसान न पहुंचा सके ! क्योंकि वर्ष 1951 में किसी आदमी ने इस तस्वीर पर एक पत्थर फेंका था, जिसकी वजह से मोनालिसा के बाएं हाथ ( left hand ) की कोहनी के सामने एक स्क्रेच आ गया था !

( अभी आप ये जानकारी gkwebsite.com पर पढ़ रहे है ! )

दोस्तों ये पोस्ट आपको कैसे लगी । हमें अपने विचार नीचे कमेंट बॉक्स में दे ।

 

3 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *