भारत के सभी 29 राज्यों के नाम कैसे रखे गए

हमारे भारत देश का नाम हिंदुस्तान कैसे पड़ा ?

यह तो सभी को पता है कि भारत विभिन्न भाषाओं का देश है ! यहां जरा – जरा सी दूरी पर बोलियां बदलती हैं ! पग – पग पर संस्कृति एक नए रूप में नजर आती है ! यहां धर्म, मान्यताएं, परम्परा, आधुनिकता इन सभी की अपनी – अपनी ख़ास विशेषताएं हैं ! इसी वजह से भारत को विविधता में एकता का देश कहा जाता है !

लेकिन क्या आपको पता है कि हमारे भारत देश का नाम हिंदुस्तान कैसे पड़ा ? वैसे अगर देखा जाए तो हिंदुस्तान नाम को लेकर कई प्रकार की कहानियां और कल्पनाएं जुड़ी हुई हैं !

शायद कुछ ही ऐसे लोग होंगे जो हिंदुस्तान के नाम से जुड़ी जानकारी के बारे में जानते होंगे ! हिंदुस्तान को यह नाम हिंद नदी और आर्यन उपासक द्वारा मिला जो उस समय हिंद नदी को सिंध नाम से पुकारते थे !

बैंक द्वारा दिए गए आपके 10 अधिकार

जबकि पारसी इसे हिंद नाम से ही पुकारते थे ! इसलिए कह सकते हैं कि हिंदुस्तान दो नामों को मिलाकर बना और यह दो नाम हैं हिंद और सिंधु ! लाखों – करोड़ों लोग भारत के राज्यों में रहते हैं ! जहां इनका इतिहास, भाषा, शासक आदि इन विभिन्न राज्यों को नाम देने की भूमिका अदा करते हैं !

क्या आपको पता है कि हमारे भारत देश के अलग – अलग राज्यों को उनके नाम कैसे मिले ? अगर नहीं तो आज मैं आपको बताऊंगा देश के राज्यों से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में !

Name of 29 States of India(भारत)
Name of 29 States of India (भारत)

भारत के 29 राज्यों के नाम :-

1.   हरियाणा       2.  उत्तर प्रदेश       3.  हिमाचल प्रदेश     4.  पंजाब

 5. जम्मू – कश्मीर        6.  राजस्थान           7.   उत्तराखंड   8.    झारखंड

9.   ओडिशा      10.   बिहार       11.   पश्चिम बंगाल      12.   छत्तीसगढ़

13.    मध्य प्रदेश      14.   गुजरात      15.   गोवा      16.    महाराष्ट्र

17.  आंध्र प्रदेश   18.  कर्नाटक   19.  तमिलनाडु     20.   केरल    21.  तेलंगाना

22.  सिक्किम     23.   अरुणाचल प्रदेश     24.   असम    25.     मेघालय

26.  मणिपुर     27.   मिजोरम    28.  नागालैंड    29.   त्रिपुरा

देश के राज्यों से जुड़े कुछ रोचक तथ्य :-

1.   हरियाणा (Haryana) :-  

हरियाणा दो शब्दों से मिलकर बना है हरि और आना ! हरि का मतलब विष्णु के अवतार श्री कृष्ण जी से है ! यहां इसका मतलब हरि के आने से है !

एटीएम से जुड़े कुछ रोचक तथ्य जिनके बारे में आपको नहीं पता होगा

पुरानी मान्यताओं के अनुसार महाभारत काल में श्री कृष्ण यहां आये थे ! जिसकी वजह से इस राज्य का नाम हरियाणा रखा गया !

2.   उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) :-

उत्तर मतलब उत्तरी दिशा और प्रदेश मतलब राज्य ! यह राज्य उत्तर दिशा में स्थित है जिसकी वजह से इसे उत्तर प्रदेश कहा जाता है !

3.  हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) :-

 संस्कृत भाषा में हिम का अर्थ है बर्फ और आंचल शब्द का अर्थ है पहाड़ !
जिस तरह कि इसके नाम से ही स्पष्ट है कि यह हिम का आंचल है !

इसीलिए इसे बर्फीले पहाड़ों का घर भी कहा जाता है ! अतः इसका नाम भी संस्कृत भाषा से ही उत्पन्न हुआ है !

4.  पंजाब (Punjab) :-

असल में पंजाब एक इंडो – इरानी शब्द है ! पंज शब्द का मतलब है पांच और आब का मतलब है पानी !

इन दोनों शब्दों को मिलकर ही पंजाब शब्द की उत्पत्ति हुई ! इसी वजह से इसे पांच नदियों की भूमि के रूप में भी जाना जाता है !

 5. जम्मू – कश्मीर (Jammu and Kashmir) :-

यह राज्य अपने नाम की ही तरह एक बेहद खूबसूरत घाटी है !

इसे पूर्वकाल में ऋषि कश्यप की घाटी के नाम से भी जाना जाता था ! इन्ही के नाम से कश्मीर शब्द की उत्पत्ति हुई !

जम्मू शब्द की उत्पत्ति यहां के शासक राजा जम्बू लोचन के नाम से हुई !

  6.  राजस्थान ( Rajasthan) :-

संस्कृत शब्द राजा से राजस्थान शब्द की उत्पत्ति हुई है ! प्राचीन समय में राजस्थान को राजपुताना नाम से भी जाना जाता था मतलब राजपूतों का शहर !

 7.   उत्तराखंड (Uttarakhand) :-

पहले उत्तरांचल भी उत्तर प्रदेश का ही एक अंग था लेकिन सन २००० में उत्तरांचल, उत्तर प्रदेश से अलग होकर एक नए राज्य के रूप में स्थापित हुआ !

बाद में इसका नाम बदलकर उत्तरांचल से उत्तराखंड कर दिया गया जिसका मतलब है उत्तरी भूमि !

8.    झारखंड (Jharkhand) :-

संस्कृत शब्द से बना है झारखण्ड ! झर जिसका मतलब है जंगल और खंड का मतलब है भूमि !

इसलिए इसे जंगल की भूमि कह सकते हैं ! झारखण्ड को वनांचल के नाम से भी जाना जाता है !

9.   ओडिशा (Odisha) :-

संस्कृत शब्द ओडरा विषय या ओडरा देश से उत्पत्ति हुई है ओडिशा शब्द की ! इसका मतलब यह है कि वह ओडरा लोग जो मध्य भारत में निवास करते हैं !

10.   बिहार (Bihar) :-

बिहार शब्द की उत्पत्ति पाली शब्द विहार शब्द से हुई है ! इसका मतलब है आवास या डेरा डालना !

समय के साथ – साथ यह विहार से बिहार हो गया ! एक समय तक इसे बौद्ध मठधारियों के विहार का स्थान माना जाता था !

11.   पश्चिम बंगाल (West Bengal) :-

बंगाल शब्द की उत्पत्ति भी संस्कृत भाषा से ही हुई है ! संस्कृत शब्द वांग से इसे लिया गया है !

समय के साथ – साथ लोगों ने इसे अलग – अलग नामों से पुकारा ! जैसे पारसी इसे बांग्लाह कहते थे, हिंदी में इसे बंगाल और बंगाली में इसे बांग्ला कहा जाने लगा !

बंगाल शब्द के साथ पश्चिम 1905 के विभाजन के बाद जुड़ा ! 1947 में जब देश आजाद हुआ तो उस वक्त हुए विभाजन के बाद पश्चिम बंगाल एक राज्य बना !

जबकि पूर्व बंगाल एक नए देश के रूप में विश्व मानचित्र में जुड़ा जो बांग्लादेश के नाम से जाना गया !

12.   छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) :-

पहले इस राज्य को दक्षिण कोसल के नाम से जाना जाता था ! लेकिन इस नाम से सम्बंधित किसी प्रकार के कोई साक्ष्य या प्रमाण मौजूद नहीं हैं !

इस राज्य में 36 किले हैं, जिसकी वजह से ही इसे छत्तीसगढ़ के नाम से जाना जाता है !

13.   मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) :-

यह तो इसके नाम से ही स्पष्ट है कि मध्य में स्थित राज्य ! आजादी से पहले देश के अधिकतर राज्य मध्य प्रदेश के रूप में ही जाने जाते थे जो ब्रितानियों द्वारा प्रशासित राज्य थे !

14.   गुजरात (Gujarat) :-

गुजरात की भूमि वह भूमि है जो 700 और 800 में गुज्जरों द्वारा शासित थी ! इसलिए इसे गुज्जरों की भूमि कहा जाता था !

15.   गोवा (Goa) :-

अभी तक इसका सही – सही कोई प्रमाण नहीं है कि आखिर इसे गोवा नाम कैसे मिला ?

संभावना है कि यह शब्द संस्कृत भाषा से लिया गया है ! जिसमे गौ का मतलब है गाय !

कुछ लोगों का यह भी मानना है की गोवा यूरोपीय या पुर्तगाली शब्द है !

16.   महाराष्ट्र (Maharashtra) :-

इस शब्द की उत्पत्ति भी संस्कृत शब्द से हुई है ! महाराष्ट्र के नाम के साथ विभिन्न प्रकार के मत जुड़े हैं !

महा का मतलब है महान और राष्ट्र का मतलब है देश यानी महान देश ! अशोक के अभिलेखों के मुताबिक इसकी उत्पत्ति वंश से हुई है अतः इसे राष्ट्रिका कहा जाता है !

राष्ट्रकूट एक वंश है जिसका 8 से 10 सदी तक शासन रहा और राष्ट्र शब्द सत्ता से उत्पन्न हुआ है ! यह भी माना जाता है कि राष्ट्र शब्द राठी या रथ से उत्पन्न हुआ है जिसका मतलब होता है रथ गाड़ी !

17.   आंध्र प्रदेश (Andra Pradesh) :-

यह शब्द संस्कृत शब्द आंध्र से उभरा है जिसका मतलब है दक्षिण ! इस क्षेत्र में जनजातियों का भी आवास है जिन्हे आंध्र के नाम से जाना जाता है !

18.   कर्नाटक (Karnataka) :-

कर्नाटक शब्द की उत्पत्ति करू शब्द से हुई है जिसका मतलब है गगनचुंबी और नाद का मतलब है भूमि ! यह दक्कन पठार को परिलक्षित करता है !

19.   तमिलनाडु (Tamil Nadu) :-

तमिल मतलब मीठा शरबत और तमिलनाडु का अर्थ है तमिलों का घर ! नाडु एक तमिल शब्द है जिसका मतलब है जन्मभूमि या देश !

20.   केरल (Kerala) :-

इस शहर के साथ भी कई तथ्य जुड़े हैं ! केरलम शब्द चेरा वंश के शासकों से उत्पन्न हुआ है जो कि 1 – 5  A. D.  तक मौजूद रहे ! शब्द बना चेरा आलम अंततः इसका नाम बदलकर केरलम हुआ !

इसकी उत्पत्ति चरना से हुई है जिसका मतलब है संकलित और आलम यानि भूमि !

संस्कृत शब्द केरलम का मतलब है एक जुडी हुई भूमि ! भौगोलिक रूप से यह भी कह सकते हैं की केरल समुद्र से निकली अतिरिक्त भूमि है !

21.   तेलंगाना (Telangana) :-

तेलंगाना शब्द की उत्पत्ति त्रिलिंग से हुई है ! जिसका मतलब है शिव के तीन लिंग!

22.   सिक्किम (Sikkim) :-

इसमें स का मतलब है नया और कहीं का मतलब है विशाल भवन ! सिक्किम को तिब्बती भाषा में डेजांग नाम से जाना जाता है !

23.   अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh):-

अरुणाचल प्रदेश की उत्पत्ति अरुण शब्द से हुई है ! जिसका मतलब है सुबह की ज्योति और आंचल का मतलब है पहाड़ अर्थात सुबह की ज्योति का पहाड़ !

24.   असम (Assam) :-

असम अहम शासकों से उत्पन्न हुआ है जिन्होंने 6 सदियों तक असम पर राज किया ! अहम इंडो – आर्यन शब्द असामा से भी उत्पन्न मन जाता है जिसका मतलब है अनियमित !

25.   मेघालय (Meghalaya) :-

मेघ यानी बादल और आलय मतलब घर अर्थात बादलों का घर ! इसलिए इस राज्य को बादलों का घर भी कहते हैं !

26.   मणिपुर (Manipur) :-

जैसा की इसके नाम से ही स्पष्ट है कि यह मणियों का शहर है जिसकी वजह से ही इसे मणिपुर कहा जाता है !

27.   मिजोरम (Mizoram) :-

मिजोरम में मी का अर्थ है लोग और जो का अर्थ है पहाड़ यानि पहाड़ के निवासी !

एटीएम का अविष्कार किसने किया

28.   नागालैंड (Nagaland) :-

नागालैंड शब्द की उत्पत्ति बर्मा शब्द से हुई है और यह है नाका ! नाका का मतलब है नागा !

नागा का मतलब है ऐसे लोग जिनके नाक और कान छिदे हुए होते हैं इसे नागा की भूमि भी कहा जाता है !

29.   त्रिपुरा (Tripura) :-

त्रिपुरा के नाम के साथ कई मान्यताएं और मत जुड़े हुए हैं ! त्रिपुरा, कोकबोरोक शब्द से जन्मा है इसका मतलब है तुई ! तुई का मतलब है पानी और पारा का मतलब है पानी !

यह भी एक मान्यता है कि राजा त्रिपुरा के नाम से इस राज्य को त्रिपुरा नाम मिला!

यह राज्य क्षेत्रफल के हिसाब से देश का तीसरा सबसे सबसे छोटा राज्य है !

( अभी आप ये जानकारी gkwebsite.com पर पढ़ रहे है ! )

दोस्तों ये पोस्ट आपको कैसे लगी । हमें अपने विचार नीचे कमेंट बॉक्स में दे ।

 

 

 

 

 

 


2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *